म्यूचुअल फंड क्या है और म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करें? What is mutual fund and how to invest mutual fund in hindi
म्यूचुअल फंड और शेयर मार्केट

म्यूचुअल फंड क्या है? म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करें?

आज के समय में बहुत सारे लोग म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में Invest करना चाहते हैं लेकिन उन्हें अच्छी तरह से यह जानकारी नहीं होती है कि म्यूचुअल फंड क्या है और म्यूचुअल फंड मेंं कैसे निवेश करें? इसीलिए इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Mutual fund kya hai? how to invest in mutual funds? Mutual fund kya hota Hai?

म्यूचुअल फंड क्या है? (What is Mutual Fund in Hindi? Mutual Fund Kya Hai?)

म्यूचुअल फंड क्या है? Mutual Fund Kya Hai?: म्युचुअल फंड एक ऐसा पूल है जहां पर अलग-अलग निवेशकों से पैसे इकट्ठा करके कई प्रकार की प्रतिभूतियों जैसे स्टॉक, बांड, इत्यादि में Invest किया जाता है। म्युचुअल फंड में स्टॉक मार्केट की तुलना में कम जोखिम और हाई रिटर्न के अवसर होते हैं।

यदि आप नए नए निवेशक हैं तो स्टॉक मार्केट की जगह म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करना आपके लिए सबसे अच्छा फैसला हो सकता है। इसका कारण है कि म्युचुअल फंड्स प्रोफेशनल फंड मैनेजरों द्वारा मैनेज किए जाते हैं, जबकि स्टॉक मार्केट में आपको खुद से ही कंपनी के बारे में सभी जानकारी हासिल करनी होती है।

ये फंड मैनेजर किसी भी कंपनी के फाइनेंसियल स्टेटमेंट पिछले प्रदर्शन को देखते हुए ऐसे फंड लेकर आते हैं जिसमें निवेशक को अच्छा रिटर्न मिलने की संभावना हो सके। किसी भी नए निवेशक के लिए यह सबसे अच्छा निवेश प्लेटफार्म होता है। यहां पर आपको सभी फंड के पिछले प्रदर्शन की भी जानकारी मिल जाती है।

म्युचुअल फंड्स SEBI के अंतर्गत रजिस्टर्ड हैं, जो कि भारत में शेयर मार्केट को कंट्रोल करता है। इसका काम निवेशकों के पैसे को शेयर मार्केट में सुरक्षित रखना एवं सभी कंपनियों के स्टॉक एवं म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) पर नजर रखना है। यदि कोई कंपनी किसी प्रकार का फ्रॉड कर रही है तो उसके खिलाफ कार्यवाही करना SEBI का काम है।

म्यूचुअल फंड क्या होता है? Mutual Fund Kya Hota Hai? What is Mutual Fund in Hindi?

Mutual Fund Kya Hota Hai? जैसा कि हमने आपको ऊपर ही बताया कि म्यूचुअल फंड एक ऐसा पूल होता है जिसके जरिए निवेशकों से पैसे इकट्ठे करके स्टॉक या बांड में निवेश किया जाता है। म्यूचुअल फंड में सबसे अच्छी चीज यह है कि इसमें कम पैसे को भी Invest किया जा सकता है।

यहां पर आप कम अवधि के लिए भी अपने पैसों को निवेश कर सकते हैं और साथ ही साथ लंबी अवधि के लिए भी निवेश कर सकते हैं। म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश की न्यूनतम राशि ₹500 है। कई फंड हाउस इससे कम में भी निवेश की सुविधा देते हैं।

म्यूचुअल फंड में क्यों निवेश करें? Mutual Funds Investment Reasons

बहुत सारे लोग यह पूछते हैं कि म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में क्यों Invest करें? हम आपको म्यूचुअल फंड में निवेश करने के कारणों के बारे में हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं।

मैनेज करने में आसान होने के कारण: म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) मैनेज करने में बड़े आसान होते हैं। आप किसी भी दिन किसी भी समय पर कितने भी म्युचुअल फंड को बड़े ही आसानी से खरीद सकते हैं एवं उन्हें बेच सकते हैं। जबकि यदि आप फिक्स डिपाजिट (FD), पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) या बीमा को खरीदना एवं बेचना चाहते हैं तो सरकारी छुट्टियों में ऐसा नहीं कर सकते हैं।

कई अलग-अलग विकल्पों के कारण: म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में आप कम पैसे भी इन्वेस्ट कर सकते हैं। इसीलिए आप यहां पर कई अलग-अलग स्टॉक एवं बांड खरीद सकते हैं। हम म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में जितना पैसा इन्वेस्ट करते हैं वह सभी शेयर मार्केट एवं में अलग-अलग क्षेत्रों में Invest किए जाते हैं इसीलिए यदि किसी एक क्षेत्र में मंदी की स्थिति आ गई तो दूसरे क्षेत्र से उसे कवर किया जा सकता है। इसीलिए म्युचुअल फंड खरीदना शेयर मार्केट के मुकाबले कम जोखिम का काम होता है।

कम फीस के कारण: यदि आप किसी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में Invest करते हैं तो आपके 1.5% से 2.5% तक की फीस लगती है। यह फीस फंड हाउस द्वारा फंड मैनेज करने के लिए लिया जाता है। यह फीस वाकई में बहुत कम है ऐसा इसलिए क्योंकि म्यूचुअल फंड में बहुत सारे लोग Invest करते हैं।

पारदर्शिता के कारण: म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) SEBI द्वारा रेगुलेटर किए जाते हैं और इनके कीमत या NAV (नेट ऐसेट वैल्यू) को प्रतिदिन के आधार पर घोषित किया जाता है। की सेना ही नहीं हर महीने इनके पोर्टफोलियो की भी घोषणा होती है और सभी चीजों के बारे में निवेशकों को जानकारी भी दी जाती है। इसीलिए यह कहा जा सकता है कि किसी अन्य जगह Invest करने के मुकाबले म्युचअल फंड में Invest करना अधिक फायदेमंद है क्योंकि इसमें पारदर्शिता अधिक है।

म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करें? (How To Invest In Mutual Funds?)

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में Invest करने के लिए सबसे पहले आपको KYC कराने की आवश्यकता पड़ती है। KYC करने के लिए आपके पास आधार और पैन कार्ड होना जरूरी है। किसी भी म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट प्लेटफार्म पर KYC की प्रक्रिया ऑनलाइन की जाती है। जब आप KYC की प्रक्रिया पूरा कर लेते हैं तो इसके बाद आप किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। इसके बाद किसी भी म्यूचुअल फंड से कमाए गए मुनाफे को बैंक अकाउंट में भेज सकते हैं।

म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए योग्यता (Mutual Funds Investment Eligibility):

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में कोई भी व्यक्ति निवेश कर सकता है। यदि आप म्यूचुअल फंड में Invest करना चाहते हैं तो इसके लिए आप की उम्र कम से कम 18 वर्ष जरूर होना चाहिए, तभी आप किसी भी म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट बना सकते हैं और उसके जरिए म्यूचुअल फंड में Invest कर सकते हैं। इसके अलावा आपके पास आधार पैन कार्ड एवं बैंक अकाउंट होना जरूरी है।

यदि आप चाहें तो अपने लाइफ पार्टनर या बच्चों के नाम पर भी फंड खरीद सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको अपने बारे में पूरी जानकारी देनी होती है। इसके अलावा जब तक आपके बच्चे की उम्र 18 वर्ष से अधिक नहीं हो जाती तब तक आप को ही इस खाते को मैनेज करना पड़ेगा। म्यूचुअल फंड में Invest करने के लिए आपका भारतीय नागरिक या NRI होना जरूरी है।

जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि म्यूचुअल फंड बाजार से जुड़े होते हैं। आप यहां पर जो भी Invest करते हैं उसमें मिलने वाला फायदा या नुकसान बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है। हालांकि शेयर मार्केट की तुलना में म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में कम जोखिम होता है। क्योंकि यहां पर फंड मैनेजर आपके लिए सबसे अच्छा फंड चुनकर लाते हैं जिसमें आपको फायदा हो सके।

म्यूचुअल फंड में निवेश करने का सही समय क्या है? Right Time For Mutual Funds Investment

बहुत सारे लोगों का यह सवाल होता है कि म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करने का सही समय क्या है? इसके लिए जानकार यह बताते हैं कि सही समय का इंतजार करने से अच्छा यह होता है कि आप किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश कर लें। क्योंकि बाजार को लेकर कोई भी व्यक्ति भविष्यवाणी नहीं कर सकता है।

किसी भी म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करने के लिए यह देखना जरूरी है कि आप कितना अधिक जोखिम उठा सकते हैं और आपका लक्ष्य क्या है। किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले और उसकी अवधि तय करने से पहले लक्ष्य बनाना जरूरी है। यदि आप भविष्य के किसी लक्ष्य के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इसमें देर करना सही फैसला नहीं है।

क्या म्यूचुअल फंड को कभी भी बेचा जा सकता है? Can i Sell Mutual Funds Anytime?

बहुत सारे लोगों का यह भी सवाल होता है कि क्या म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) को कभी भी बेचा जा सकता है? जी हां! बहुत सारे म्यूचुअल फंड्स ऐसे भी होते हैं जो ओपन एंडेड होते हैं, जिन्हें कभी भी बेचा जा सकता है। इसके अलावा कई फंड्स क्लोज एंडेड भी होते हैं जिनकी समय सीमा निर्धारित रहती है। आप इस अवधि को बढ़ा भी सकते हैं लेकिन उससे कम अवधि में बेच नहीं सकते हैं

उदाहरण के रूप में टैक्स सेविंग या Equity-linked Savings Scheme (ELSS) फंड्स की अवधि 3 वर्ष के लिए होती है। इससे कम समय में आप इन्हें नहीं बेच सकते हैं और इससे अधिक समय होने पर आप इन्हें कभी भी बेच सकते हैं।

म्यूचुअल फंड क्या है? (What is Mutual Fund in Hindi? Mutual Fund Kya Hai?)

उम्मीद है आप Mutual fund kya hai? how to invest in mutual funds? Mutual fund kya hota Hai? के बारे में अच्छी तरह से जाान चुके होंगे। Economics Notes in Hindi, Daily Current AffairsLatest Government Recruitments एवं Economic World की खबरों के लिए The Economist Hindi के साथ जुड़े रहें। हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वॉइन करें और फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर फॉलो जरूर करें।

नीतिश कुमार मिश्र
नीतिश कुमार मिश्र (Neetish Kumar Mishra) इस वेबसाइट के फाउंडर हैं। वे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से स्नातक एवं महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से परास्नातक (अर्थशास्त्र) कर चुके हैं। अब वे इस वेबसाइट के माध्यम छात्रों को बेहतर कंटेंट देकर उनको आगे बढ़ाने की ओर प्रयासरत हैं।